Inner Banner
होमहमारे बारे मेंसाईकोम के बारे में

एकीकृत तटीय प्रबंधन सोसाइटी (साइकाम) का गठन पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, भारत सरकार के तत्वाधान में किया गया है जिसका लक्ष्य देश और तटवर्ती समुदायों को निरंतर रूप से और परिष्कृत लाभ प्रदान करने के लिए आकर्षक, स्वस्थ और लचीला तटीय और समुद्री वातावरण उपलब्ध कराना है।

साइकाम के उद्देश्य और प्रकार्य

  • भारत में एकीकृत तटवर्ती क्षेत्र प्रबंधन (आईसीजेडएम) कार्यकलापों के कार्यान्वयन को सहायता प्रदान करना।
  • भारत के तटवर्ती क्षेत्रों के प्रबंधन में अनुसंधान और विकास तथा स्टेकधारकों की भागीदारी को बढ़ावा देना।
  • उन्नत प्रौद्योगिकी समर्थित प्रवर्तन के माध्यम से सीआरजेड का अतिक्रमण रोकने और संस्थाओंको सुदृढ़ बनाने और नियामकीय तथा विधिक सुधारों को सहायता प्रदान करना।
  • साइकाम, आईसीजेडएमपी चरण-। की कार्यनीतिक योजना बनाने, प्रबंधन, कार्यान्वयन, निगरानी करने और इसके सफल क्रियान्वयन के लिए भारत का राष्ट्रीय परियोजना प्रबंधन यूनिट है।
  • आईसीजेडएम परियोजना के चरण-। के सफल कार्यान्वयन के आधार पर साइकाम को आईसीजेडएम परियोजना के चरण-।। के अंतर्गत 13 तटवर्ती राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों की परियोजनाओं का कार्यान्वयन करने तथा इसे लागू करने का कार्य सौंपा गया है। सभी 13 तटवर्ती राज्यों/ संघ राज्य क्षेत्रों (महाराष्ट्र, गुजरात, ओडिसा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, गोवा, पुदुचेरी, केरल, कर्नाटक, दमन और दीव, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप समूह) में आईसीजेडएम परियोजना को लागू करने के लिए आर्थिक कार्य विभाग, वित्त मंत्रालय का सैंद्धांतिक अनुमोदन प्राप्त कर लिया गया है। चरण-।। के तैयारी कार्यकलाप चल रहे हैं (परियोजना लागत- 4000 करोड़ रूपए)
  • साइकाम भारत में पहली बार शुरू की गई ब्लू फ्लैग समुद्र तट(बीच) प्रोग्राम की पाइलट परियोजना में भी शामिल है जिसमें सभी 13 तटवर्ती राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों में ऐसे एक-एक समुद्र तट की पहचान की जाएगी। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य समुद्र तटीय प्राधिकरणों के लिए भारत के तटवर्ती क्षेत्रों में स्थाई विकास को बढ़ावा देना है ताकि वे निम्नलिखित चार श्रेणियों में उच्च अंतर्राष्ट्रीय मानक प्राप्त करने के लिए समर्थ हो सकें:
    • समुद्र तटों पर स्वच्छता, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन सहित पर्यावरण प्रबंधन
    • पर्यावरणीय शिक्षा
    • समुद्र तटों पर जाने वाले लोगों की सुरक्षा
    • नहाने के पानी की गुणवत्ता के मानक
  • साइकाम ने इस कार्यक्रम के अंतर्गत और स्वच्छ भारत अभियान के अनुसरण में 13 पायलट समुद्र तटों (प्रत्येक राज्य/संघ राज्य क्षेत्र में एक-एक पायलट समुद्र तट) पर उपर्युक्त प्रक्रियाओं को शुरू किया है।

  • तटीय प्रबंधन के क्षेत्र में और अन्य संबद्ध कार्यकलापों के सबंध में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा समय-समय पर सौंपे गए कोई अतिरिक्त कार्य या प्रकार्य निष्पादित करना।